Share Market Me Nuksan Kaise Hota Hai: शेयर मार्केट में नुकसान कैसे होता है?

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

Share Market Me Nuksan Kaise Hota Hai
Share Market Me Nuksan Kaise Hota Hai

देखणे की बता यह हैं की कोई भी इन्सान पैसे उडाने के लिए शेयर मार्केट में पैसे नहीं लगाता हैं। लेकिन घाटा व्यापार का एक हिस्सा हैं जीन लोगो को स्टॉक ट्रेडिंग की कला में महारत हासील हैं ओ शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स से बचने की नहीं बल्की उसे कम करने की कोशिश करते हैं।

इसका मतलब यह हो सकता हैं की स्टॉक को खरीद किंमत से 7 से 8% तक की छुट पर बेचा जाये। एक ट्रेडर के लिए अपनी गलती मानना और घाटे में शेयर बेचना हमेशा मुश्किल होता हैं। लेकिन पैसे का नुकसान होने का अहसास करना और शेयरो को हाथ से निकलने से पहले बेचना ही एक सफल ट्रेडर को बाकी सभी से अलग करता हैं। अभिनंदन यह जानना हैं की Share Market Me Nuksan Kaise Hota Hai और इससे कैसें निपटा जाए।

{getToc} $title={Table of Contents}

शेयर बाज़ार में नुकसान कैसे होता है? इससे कैसे बचे?


1. सबसे पहले कंपनी को समझें

यह पैसे लगाने का पहला और रामबाण नियम हैं जिसका पालन हर ट्रेडर को करना चाहिए। हालाकी हर इन्सान से हर कंपनी को समझने की उम्मीद करना मुश्किल हैं। इसके बावजुद हमे कम se कम कंपनी के व्यापार की बातो समझ रखने की कोशिश करणी चाहिए, जैसे की कंपनी क्या करती हैं और वह अपने कॉम्पिटेटर की कंपनीयो के सामने कैसें खडी होती हैं।

2. शेयर की कीमत बढ़ती देखकर खरीदारी करना

शेयर बाजार में घाटे का पहला कारण शेयरो की किमत में बढावं देखकर उनपर पैसा लगाना। अक्सर नये ट्रेडर यह गलती करते हैं की जब किसी शेयर की किमत बढणे लगती हैं तो ओ दुसरो की तरह तुरंत उसमे पैसा लगाना शुरु कर देते हैं बिना यह जाने की किमत क्यूँ बढ रही हैं।

बाद में उन्हे पता चलता हैं की शेयर की किमत जबरदस्ती बढाई जा रही हैं लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती हैं और आप उस शेयर में फन्स जाते हैं क्यूकी उस कंपनी में लोअर सर्किट लगणे लगता हैं जिसके कारण आप ट्रेडर उनके शेयर खरीदना बंद कर देते हैं। रखे गये शेयरो को बेचणे में काठीनाई आती हैं। इस तरह आपकी गलती की वजह से आपका घाटा बढता जाता हैं। इसलिए आज शेयर बाजार में अपने घाटे को कम करने के लिए चढते शेयर को देखकर पैसा न लगाये।

3. पोर्टफोलियो कैसा होना चाहिए

अक्सर हम देखते हैं की ट्रेडर या तो अपने पोर्टफोलियो में विविधता नहीं लाते या बहुत ज्यादा विविधता लाते हैं। जबकी इन दोनो के बीच संतुलन बनाये रखना सबसे जरुरी हैं।

4. बिना लक्ष्य के निवेश करना

ट्रेडर द्वारा की जाने वाली सबसे बडी गलतियो में से एक हैं बिना की शेयर बाजार में पैसा लगाने की योजना या योजना के ट्रेड करना। ओ अपने पैसे भविष्य और जोखीमो को समझे बिना बाजार में ट्रेड करते हैं।

5. स्टॉप लॉस ना लगाने से नुकसान होता है

स्टॉप लॉस लगाना ज्यादातर व्यापारीयो के बीच देखी जाती हैं ट्रेडर के बीच नहीं। जो लोग इन्ट्राडे ट्रेडिंग या ऑप्शन ट्रेडिंग करते हैं अगर ओ स्टॉप लॉस सेट नहीं करते हैं तो ओ कुछ ही मिनिटो में बडी अमाऊंट हार जाते हैं। स्टॉप लॉस न लगाना इतना खतरनाक हैं की आपको 1 मिनटं में शेयर मार्केट में 2 लाख रुपये का नुकसान करावा सकता हैं। इसलिए अगर आप ट्रेड करते हैं तो स्टॉप लॉस जरूर लगाये।

6. . दूसरे के पोर्टफोलियो का अभ्यास करे

सफल ट्रेडर के पोर्टफोलियो को देखणा गलत नहीं हैं और आप शुरुआत में उनके शेयर मार्केट में पैसे लगाने के तरिके से भी सिख सकते हैं। इसके साथ ही शेयर मार्केट में पैसे लगाने के तरिके भी सिख जाते हैं। आँख बंद करके दुसरो का अनुसरण करना लंबे समय में खतरनाक हैं क्यूकी प्रत्येक ट्रेडर के अलग अलग नियम और अपनी योजनाये होती हैं।

7. खुद से रिसर्च ना करना

आजकाल लोग खुद रिसर्च करने के बजाय दुसरो से शेयर मार्केट में पैसा लगाने के टिप्स लेकरं ही शेयर खरीदते हैं जिससे उम्हे नुकसान होता हैं। आप चाहे कितना भी रिसर्च कर ले सच्चाई तो यह हैं की जब तक आप खुद रिसर्च नहीं करेंगे, आप अच्छा ट्रेड नहीं कर सकते हैं। इसलिए बेहतर होगा की कंपनीयो पर मौलिक रिसर्च करना सिखे, बॅलेंस शीट पढे, इसका अभ्यास करें और शेयर मार्केट में पैसे लगाने के फायदे और नुकसान देखे। सच बात तो यह हैं की आधे से ज्यादा लोग ये सब बोरिंग चीजे नहीं देखते और इसलिए उन्हे शेयर मार्केट में नुकसान होता हैं।

8. स्टॉप-लॉस को नजरअंदाज करना

यह वह किमत हैं जो व्यापारी को शेयर बाजार में नुकसान होने से बचाती हैं। इससे व्यापारीयो के लिए रिस्क कम हो जाता हैं और उन्हे सही समय पर बाजार से बाहर निकलने की अनुमती मिलती हैं। कम समय ट्रेडिंग में स्टॉप लॉस की जरुरत और ज्यादा बढ जाती हैं क्यूकी यहा रिस्क की संभावना और ज्यादा होती हैं।

9. ओवरट्रेडिंग

बार बार व्यापार करने से ज्यादा लेंडेन लागत और चार्ज लग सकते हैं, जिससे ट्रेडर का रिटर्न कम होता सकता हैं। ट्रेड के लिए अनुशासित दृष्टीकोन रखना और ओवरट्रेडिंग से बचना जरुरी हैं।

10. घाटे से डरिए मत, सीखिए

हर ट्रेडर के लिए सबसे जरुरी बात यह सिखना और उससे बचना हैं। हर कोई कभी न कभी किसी स्टॉक में गलत निर्णय लेता ही हैं यह कोई बडी बात नहीं हैं। यह हमारी सिखने की ट्रेडिंग का एक हिस्सा हैं। अगर आपने कभी गलत शेयर खरीद लिया हैं और नुकसान झेल रहे हैं तो नुकसान से डरे नहीं उससे छुटकारा पाने की कोशिश करे।

11. नए निवेशकों को इंट्रा डे ट्रेडिंग से बचना चाहिए

उतार चढाव के अलावा सामान्य समस्याओ में भी नये ट्रेडर को इन्ट्राडे ट्रेडिंग से बचना चाहिए। यही पर जल्दी पैसा डूब जाता हैं, क्यूकी आपके पास बाजार का लंबा अनुभव और ज्ञान नहीं होता हैं। ज्यादा जानकारी नहीं होती हैं इसलिए नुकसान की संभावना ज्यादा बढ जाती हैं। इसलिए किसी बेहतर कंपनी में ट्रेड करे ना की इन्ट्राडे ट्रेडिंग करे।

इसे भी पढ़िए:-
शेयर मार्केट में पैसा लगाने का तरीका
शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स

TO SHIFT

मै इस ToShift.in ब्लॉग पर स्वास्थ्य, सौंदर्य, फिटनेस, मोबाईल, मोबाईल अँप्स, Tech, टेक्सनॉलॉजिस से रिलेटेड जानकारी देने का काम करता हूँ।

और नया पुराने

نموذج الاتصال